google

सुशांत मामले में राजनीति बढ़ती ही जा रही है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक लेख में उनके पिता के बारे में विवादास्पद बातें लिखीं। जिसके बाद सुशांत सिंह राजपूत के चचेरे भाई, भाजपा विधायक नीरज कुमार बबलू, ने शिवसेना सांसद संजय राउत को कानूनी नोटिस भेजा है और राउत से 48 घंटों के भीतर सार्वजनिक रूप से माफी मांगने को कहा है।

अपनी पार्टी के समाचार पत्र ‘सामना’ के एक लेख में, राउत ने आरोप लगाया था कि सुशांत का अपने पिता के साथ तनावपूर्ण संबंध था क्योंकि उनके पिता ने दूसरी शादी की थी। जो कि सुशांत को स्वीकार्य नहीं थी। उन्होंने यह भी सवाल किया कि अंकिता लोखंडे ने सुशांत के साथ सम्बन्ध क्यों तोड़ा ? यह सब बातें जांच का हिस्सा होनी चाहिए। सुशांत की दुर्भाग्यपूर्ण आत्महत्या को राजनीतिक दृष्टिकोण से देखना गलत है। ”

परिवार ने पिता के. के.सिंह के पुनर्विवाह की खबरों का खंडन किया है। उनका कहना है कि सुशांत की मां की मृत्यु के बाद उनके पिता ने दूसरी शादी नहीं की, ये बयान उनको बदनाम करने के लिए लगाए जा रहे हैं।

इससे पहले बबलू ने कहा था – “आप बिना तथ्यों को जाने इतने संवेदनशील मामले में ऐसी टिप्पणी कैसे कर सकते हैं? अगर जरूरत पड़ी तो मैं मानहानि का मुकदमा दायर करूंगा। ”

सुशांत के चाचा आरसी सिंह ने नवभारत टाइम्स से कहा था, “संजय राउत ने उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे के इशारे पर गलत बयान दिया है। संजय राउत ऐसी बात कहकर उनकी छवि को धूमिल करने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसी बात कहकर किसी की छवि खराब करना अच्छी बात नहीं है। ”

English »