google

फेक फॉलोवर्स केस में मुंबई पुलिस ने शुक्रवार को रैपर बादशाह को क्राइम ब्रांच के ऑफिस में पूछताछ के लिए बुलाया था। लगभग 10 घंटे की पूछताछ के बाद बादशाह ने कथित तौर पर स्वीकार किया है कि अपने एक म्यूजिक एल्बम को बढ़ावा देने के लिए उन्होने फर्जी लाइक्स और फॉलोअर्स के लिए 75 लाख रूपए दिए थे।

बादशाह पर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट @badboyshah पर फर्जी फॉलोवर्स बढ़ाने के आरोप हैं। इसी मामले में पुलिस उनसे पूछताछ कर रही थी। इससे पहले बादशाह को 3 अगस्त को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया था। लेकिन वे निजी वजहों का हवाला देकर जांच के लिए नहीं पहुंचे थे। मुंबई क्राइम ब्रांच ने बादशाह के लिए 238 सवालों का एक सेट तैयार किया था। लगभग 10 घंटे की पूछताछ के बाद कथित तौर पर बॉलीवुड रैपर ने स्वीकार किया है कि उन्होंने फर्जी लाइक और फॉलोअर्स बढ़ाने के लिए एक फर्म को पैसे दिए थे।

बादशाह ने कई हिट गाने दिए हैं और उनमें से ज्यादातर को मिलियन व्यूज़ मिले हैं। लेकिन फिर भी, उनके हैंडल पर कुछ अजीब समीक्षा देखी गई और उसी के बारे में मुंबई पुलिस ने बादशाह से पूछताछ की। बादशाह ने दावा किया था कि उनका गाना “पागल है” सिर्फ एक दिन में 75 मिलियन बार देखा गया है लेकिन गूगल ने उनके दावे को खारिज कर दिया था। मुंबई क्राइम ब्रांच इस मामले को भी देख रही है। बादशाह ने क्राइम ब्रांच से उसके अनुयायियों में अचानक गिरावट के बारे में सवाल किया और अब उसके सभी अनुयायियों को सूचीबद्ध करने के लिए कहा गया।

फेक फॉलोवर्स केस में बॉलीवुड की कुछ टॉप एक्टर और एक्ट्रेस को भी जांच के लिए बुलाया जा सकता है। इनमें निर्माता, निर्देशक, एक्ट्रेस के अलावा मेकअप आर्टिस्ट, कोरियोग्राफर, असिस्टेंट डायरेक्टर से लेकर राजनेताओं तक के नाम भी शामिल हैं। पुलिस अब तक करीब 170 से अधिक हाई प्रोफाइल बॉलीवुड सेलेब्रिटीज के सोशल मीडिया अकाउंट की जांच कर चुकी है। इस जांच को लीड कर रहे ज्वाइंट कमिशनर विनय कुमार चौबे ने एक स्टेटमेंट जारी करके बताया कि हमने जांच की और पाया कि फर्जी फॉलोवर्स बढ़ाने के इस खेल में करीब 54 फर्म्स शामिल हैं। साइबर सेल की मदद से इस केस की जांच की जा रही है।

बता दें कि जिस सेलिब्रिटीज के जितने ज्यादा फॉलोवर्स होते हैं उन्हें पेड एड के लिए उतनी ज्यादा ही रकम मिलती है जिसकी वजह से कई लोग फेक फॉलोवर्स खरीदते हैं।

यह मामला संज्ञान में तब आया जब आइडल प्रतिभागी रह चुकी भूमि त्रिवेदी ने अपने नाम से चल रहे एक फर्जी अकाउंट के बारे में पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद मुंबई पुलिस ने इसकी जांच की और पाया की कई सेलेब्रिटीज के लाखों फर्जी फॉलोवर्स पीआर एजेंसीज द्वारा वर्चुअल तरीके से तैयार किए गए हैं। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने भी इस मामले में संज्ञान लेते हुए साइबर सेल और क्राइम ब्रांच को जांच का आदेश दिया था।

English »